पंजाब सरकार ने टीकाकरण मुहिम के अंतर्गत एक और बड़ा कदम बढ़ाया – सुखविन्दर सिंह बिन्द्रा

लोगों के संपूर्ण सहयोग से पंजाब में अब तक 18-44 साल आयु वर्ग के लोगों को टीके की 20 लाख ख़ुराकें लगाई गईं

0
290
लोगों के संपूर्ण सहयोग से पंजाब में अब तक 18-44 साल आयु वर्ग के लोगों को टीके की 20 लाख ख़ुराकें लगाई गईं
लोगों के संपूर्ण सहयोग से पंजाब में अब तक 18-44 साल आयु वर्ग के लोगों को टीके की 20 लाख ख़ुराकें लगाई गईं
खेल और युवक मामलों बारे विभाग, यूथ क्लबों द्वारा राज्य भर के कॉलेजों में लगाए जाने वाले विशेष टीकाकरण कैंपों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई जाएगी
चंडीगढ़ /लुधियाना, 7 जुलाईः
पंजाब यूथ विकास बोर्ड (पी.वाई.डी.बी.) के चेयरमैन सुखविन्दर सिंह बिंद्रा ने आज यहाँ कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व में पंजाब सरकार के ठोस यत्नों स्वरूप राज्य ने 3 से 5 जुलाई तक तीन दिवसीय-विशेष टीकाकरण मुहिम के दौरान टीकाकरण की दिशा में एक और बड़ा कदम बढ़ाया है।
यह कहते हुए कि समय पर टीकाकरण करवाने से कोविड महामारी से कीमती जानों का बचाव किया जा सकता है, पी.वाई.डी.बी. के चेयरमैन सुखविन्दर सिंह बिंद्रा ने कहा कि पंजाब के लोगों ने 3 जुलाई को राज्य भर में चलाई गई टीकाकरण मुहिम में बढ़चढ़कर हिस्सा लिया जिसके अंतर्गत एक दिन में 18 साल और इससे अधिक आयु के व्यक्तियों को 5.14 लाख ख़ुराकें लगाई गईं।
उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य टीमों ने राज्य भर में अब तक 18 से 44 साल आयु वर्ग के लाभार्थीयों को 20 लाख से अधिक कोरोना निषेध टीके लगाए हैं।
बिंद्रा ने शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक योग्य व्यक्तियों को कवर करते हुए टीकाकरण मुहिम को नयी ऊँचाईयों पर लेजाने के लिए खेल और युवक मामले विभाग, यूथ क्लबों, सामाजिक और धार्मिक संस्थाओं की महत्वपूर्ण भूमिका की भी सराहना की।
इस संबंधी जानकारी देते हुए श्री बिन्द्रा ने बताया कि कोविड टीकाकरण की बड़ी मुहिम की शुरूआत के साथ ही पहले दिन 18 से 44 साल आयु वर्ग के 284044 लाभार्थीयों को टीके की पहली और 8065 लाभार्थीयों को टीके की दूसरी ख़ुराक दी गई, जबकि 4 जुलाई को 49251 लाभार्थीयों को टीके की पहली और 1429 को टीके की दूसरी ख़ुराक दी गई। 5 जुलाई को स्वास्थ्य टीमों ने 18915 लाभार्थीयों को टीके की पहली ख़ुराक और 1915 को टीको की दूसरी ख़ुराक दी। उन्होंने कहा कि 5 जुलाई से अब तक 18 से 44 साल आयु वर्ग को दी गई ख़ुराकों की कुल संख्या 2016364 है और राज्य के बाकी सभी योग्य लाभार्थीयों को कवर करने से यह संख्या और अधिक बढ़ जायेगी।
उन्होंने कोविड-19 महामारी के विरुद्ध लड़ाई में बड़ा योगदान देने के लिए राज्य के खेल और युवक मामले विभाग, यूथ क्लबों की सराहना की और बताया कि अधिकारियों को कॉलेजों में लगाए जाने वाले आगामी विशेष टीकाकरण कैंपों, जिसके बारे में हाल ही में पंजाब की मुख्य सचिव श्रीमती विनी महाजन ने ऐलान किया था, में भी अहम भूमिका निभाने के लिए निर्देश जारी किये गए हैं।
उन्होंने बताया कि ज़िला खेल अधिकारियों और बोर्ड के साथ जुड़े यूथ क्लबों द्वारा अपने संबंधित क्षेत्रों के नौजवानों और वासियों को बड़े स्तर पर टीके लगवाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है जिससे महामारी की तीसरी लहर से बचा जा सके।
बिंद्रा ने कहा कि पी.वाई.डी.बी. कोविड-19 के विरुद्ध लड़ाई में कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहा है जिसके द्वारा टीकाकरण मुहिम में तेज़ी लाने के लिए राज्य सरकार को सहयोग दिया जा रहा है क्योंकि लाभार्थीयों को तेज़ी से कवर करने से वायरस की संचार लड़ी को तोड़ने में सहायता मिलेगी।
उन्होंने कहा कि पंजाब में बड़ी संख्या में नौजवान हैं और उनके पास कोविड-19 को हराने की क्षमता है। उन्होंने कहा कि नौजवान किसी भी राज्य की पूंजी होते हैं और जिन देशों में नौजवानों ने रचनात्मक भूमिका निभाई है, उन्होंने दुनिया में काफ़ी नाम कमाया है। उन्होंने कहा कि पी.वाई.डी.बी. कॉलेजों में आगामी मेगा टीकाकरण मुहिम दौरान योग्य लाभार्थीयों को जल्द से जल्द कवर किये जाने को यकीनी बनाने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगा। चेयरमैन ने कहा कि सिर्फ़ बड़े स्तर पर टीकाकरण मुहिम ही बीमारियों से लड़ने की क्षमता को बढ़ाने में सहायक हो सकती है जिसके परिणामस्वरूप इस घातक वायरस की संचार लड़ी को तोड़ा जा सकता है।