गांव नारली में गरीब कल्याण योजना तहत बांटी जा रही गेहूं में कपले की आशंका

0
366

जिला तरनतारन के हल्का खेमकरण के गांव नारली में केंद्र सरकार की तरफ से गरीब कल्याण योजना तहत आई गेहूं गरीब जरूरतमंद परिवारों को ना मिलने से गांव वासियों ने डीपु होल्डर सुरिंदर सिंह और पंजाब सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी करते हुए गांव वासियों ने प्रकाश सिंह पुत्र कश्मीर सिंह, प्रधान जोगा सिंह, कुलविंदर सिंह, प्रगट सिंह, अवतार सिंह, जसवंत सिंह रानी कौर, परमजीत कौर, साहब सिंह ,दिलबाग सिंह आदि तकरीबन चाली पचास मर्द औरतों ने कहा कि हमारे राशन कार्ड भी बने हुए हैं गांव में 5 डिपो होल्डर हैं पर हर बार हमें यह कह कर गेहूं नहीं दी जाती कि आपके कार्ड दूसरे डिपो में हैं जा काटे गए हैं जब दूसरे डिब्बे में जाते हैं तो वह दूसरे दूसरे की और भेज देता है जिस कारण हमें अभी तक यह नहीं पता लगा कि हमारा राशन कार्ड किस डिपो में है और ना ही हमें गेहूं मिलती है इस बार दीपू होल्डर सविंदर सिंह (सोना) पास गरीब कल्याण योजना तहत आई श्री गेहूं लेने गए तो उन्होंने कहा कि आपके लिस्ट में नाम ही नहीं है जिस कारण हमें फ्री वाली कनक भी डिपो होल्डर नहीं दे रहा इस बारे जो पत्रकार की टीम डिपो होल्डर के घर पहुंची तो वह अपने घर में ही बिना डोले एक पार्टी के साथ मीन कर कुछ लोगों को कनक बांट रहा था जब उससे पूछा कि गरीब जरूरतमंद लोगों को गेहूं क्यों नहीं दे रहे तो उसने कहा कि मुझे फूड सप्लाई इंस्पेक्टर ने 116 कार्डो की लिस्ट दी है जिसके तहत ही मैं यह कहना चाहता हूं जब उससे पूछा गया कंडे के साथ कनक क्यों नही तोल रहे तो उसने पत्रकारों के सामने कंडा निकाल के रख दिया इस सारे मामले के बारे जब फूड सप्लाई इंस्पेक्टर सुखविंदर सिंह से गेहूं को ना मिलने के कारण पूछा तो उन्होंने बात को गोलमोल करके कहा कि अभी गेहूं बांटने वाली रहती है गिरीश का ध्यान डिपो होल्डर की तरफ बाल्टी के साथ गेहूं मिनकर और बिना तोले गेंहू  की तरफ दवाइया तो बड़े साहब ने पत्रकारों कर सामने ही डिपो होल्डर को मीठी सी घुरि कर दी। जिस से लगता है गांव नारली किसी बड़े कपले की तरफ इशारा कर रहे है।