खालसा कॉलेज की 117वें कनवोकेशन के दौरान 1740 विद्यार्थियों  ने डिग्री प्राप्त की

0
56
खालसा कॉलेज में कनवोकेशन के दौरान खालसा कॉलेज गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष सत्यजीत सिंह मजीठिया, आनरेरी सचिव राजिंदर मोहन सिंह छीना और प्राचार्य डॉ. महल सिंह और अन्य दृश्य।

मौजूदा युग में दरपेश चुनौतियों का हल आध्यात्मिक जीवन ढंग अपनाना :  मजीठिया

अमृतसर, 18 मार्च

खालसा कॉलेज के 117वें वार्षिक कनवोकेशन  के अवसर पर खालसा कॉलेज गवर्निंग काउंसिल के अध्यक्ष सत्यजीत सिंह मजीठिया ने विभिन्न ग्रेजुएट व पोस्ट ग्रेजुएट  कक्षाओं के 1740 विद्यार्थियों को डिग्री प्रदान की। इस अवसर पर संबोधन करते हुए मजीठिया ने कहा कि इस नए युग में तकनीक नई चुनौतियां लेकर आ रही है और हमें शैक्षणिक और आध्यात्मिक जीवन शैली अपनाकर नए समाधान खोजने की जरूरत है। इस अवसर पर उन्होंने गुरमति के जीवन से जुड़े उदाहरणों का हवाला देते हुए कहा कि आज का जीवन नए आविष्कारों और तकनीक द्वारा प्रभावित हो गया है, जो पर्यावरण, सामाजिक और व्यवहारिक मुद्दों को पैदा कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम ऐसे समय में एक नया अध्याय शुरू कर रहे हैं जो न केवल हमारे अपने जीवन के लिए प्रमाणिक है, बल्कि देश और दुनिया के लिए भी महत्वपूर्ण है।

मजीठिया ने कहा कि तकनीक द्वारा बदलाव की तेज दर ने परिवर्तन, लैंगिक समानता, गरीबी और जलवायु जैसी वैश्विक समस्याएं भी पैदा की हैं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि तेजी से बदलती दुनिया में चुनौतियों के समाधान के लिए सभी को शिक्षा प्राप्त करते रहना चाहिए और आगे बढ़ना चाहिए, क्योंकि डिग्री प्राप्त करने के बाद सीखना समाप्त नहीं होता, बल्कि उसका अगला अध्याय शुरू होता है। इसलिए जीवन में हमेशा सीखते और बढ़ते रहें। इस अवसर पर मजीठिया ने डिग्री प्राप्त कर नए जीवन की शुरूआत करने वाले विद्यार्थियों को बधाई भी दी। इससे पहले अपने अध्यक्षीय भाषण में कौंसिल के आनरेरी सचिव राजिंदर मोहन सिंह छीना ने कहा कि सफलता और खुशी क्षमता के बजाय व्यवहार पर निर्भर करती है। उन्होंने कहा कि सफलता में समय लगता है, इसलिए हमें सफलता की तलाश में निरंतर आगे बढ़ते रहना चाहिए। छीना ने कहा कि मंजिल तक पहुंचने की जल्दबाजी न करें, सफलता हासिल करने के लिए ध्यान केंद्रित करें और जीवन का आनंद लें, यह जीवन का तरीका होना चाहिए।

कनवोकेशन  के मौके पर कॉलेज प्राचार्य डॉ. महल सिंह ने कॉलेज की वार्षिक रिपोर्ट पढ़कर छात्रों की शैक्षणिक, सांस्कृतिक और खेल गतिविधियों की उपलब्धियों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि गवर्निंग कौंसिल के कुशल नेतृत्व में कालेज ने प्रगति की है और छात्रों ने वार्षिक परीक्षाओं के साथ-साथ खेलों में भी अच्छा प्रदर्शन किया है। उन्होंने कनवोकेशन में डिग्री, पदक और मेधावी प्रमाण पत्र प्राप्त करने वाले छात्रों को भी बधाई दी। इस अवसर पर मजीठिया, छीना ने डॉक्टर जोरावर सिंह को बेस्ट टीचर अवार्ड तथा डॉक्टर बलविंदर सिंह को बेस्ट टीचर अवार्ड के साथ सम्मानित भी किया। इस मौके पर कौंसिल के संयुक्त सचिव सरदूल सिंह मनन, अजमेर सिंह हेर, सदस्य गुरप्रीत सिंह गिल, डीन डॉ. तमिंदर सिंह भाटिया, रजिस्ट्रार प्रो दविंदर सिंह, खालसा कॉलेज ऑफ एजुकेशन के प्राचार्य डॉ. हरप्रीत कौर, खालसा कॉलेज फॉर वूमेन प्रिंसिपल डॉ. सुरिंदर कौर, खालसा कॉलेज ऑफ फिजिकल एजुकेशन की प्रिंसिपल कंवलजीत सिंह, खालसा कॉलेज चविंडा देवी के प्राचार्य प्रो. गुरदेव सिंह सहित अन्य वरिष्ठ फैकल्टी सदस्य उपस्थित थे।