कोरोना के चपेट में 50 लाख का आंकड़ा हुआ पार, दुनियां भर में 3.32 लाख मौतें , बढ़ी बेरोजगारी, भुखमरी का सकंट

(लाइव भारत)

0
317

2020 में कोरोना वायरस ने ऐसा खेल खेला कि दुनियां भर में अब तक आंकड़ा 50 लाख के पार हो गया। भारत भी लखपति हो गया। दुनियां में 3.32 लाख लोगों की मौतें हो गई। ऐसे में अमेरिका की बात करें तो 15 लाख कोरोना से ग्रस्त लोगों के सामने आने के बाद रूस, ब्राजील व ब्रिटेन में सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। भारत की बात करे तो 1.12 लाख लोग वायरस का शिकार बन चुके हैं जिनमें 45 हजार से अधिक लोग ठीक हुए हैं।

भारत कोरोना काल में बेहाल हो चुका है। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 20 लाख करोड़ की आर्थिक सहायता देने का ऐलान के बावजूद आम लोगों में इसका कोई बड़ा फर्क नजर नहीं आता। रिक्शा चलाकर गुजरबसर करने वाले रामकुमार कहते हैं कि 2 महीने हो चले हैं घर का गुजारा कैसे चले, राशन बांटने वाले फोटो ज्यादा खिंचवाते हैं मदद कम करते हैं, ऐेसे में लॉकडाउन में जिंदगी लॉक हो गई है और खुशियां डाउन।

अमृतसर की बात करें तो करीब 2 महीने बाद मार्केट खुली तो हैं लेकिन ग्राहक न के बराबर हैं। खाने-पीने के लिए मशहूर अमृतसर में रेस्टोरेंट जहां बंद हैं या फिर होम डिलवरी पर निर्भर हैं, वहीं होटल इंडस्ट्री पूरी तरह बंद है। टूरिस्ट नगरी अमृतसर में पर्यटक की आमद पर रोक लगा दी गई है, जिससे पूरी इंडस्ट्री पर संकट मंडरा रहा है। होटल व्यवसायी राजेश मेहरा कहते हैं कि लॉकडाउन पूरी तरह खुलने के बाद भी करीब 6 से 8 महीने लगेंगे दोबारा होटल व्यवसाय को पटरी पर आने के लिए। ऐसे में बेरोजगारी व भुखमरी का सकंट देश पर मंडरा रहा है, एक तरफ कोरोना के कहर तो दूसरी तरफ पंजाब से मजदूरों का पलायन ने पंजाब की आर्थिक हालातों को पाताल के तरफ ले जा रहा है, जबकि इसका असर पाताल नगरी यानि अमेरिका तक भी पड़ रहा है। ऐसे में कोरोना को लेकर आर्थिक संकट से जूझ रहा 2020 इतिहास के पन्नों में सदैव कोरोना जिंदा रहेगा।