एक दिव्यांग बालिका ने प्रशासन से लगाई गुहार-

0
219

एक दिव्यांग बालिका ने प्रशासन से लगाई गुहार-

जिला बलौदा बाजार भाटापारा के भाटापारा के गुरुनानक वार्ड क्रमांक 20 में गंगोत्री मनहरे पिता काली चरण मनहरे
जो कि गरीब परिवार व लाचार परिवार है गंगोत्री मन्हरे बचपन से दोनों हाथ से विकलांग है अपने पैर से लिख लेती है व अपने पैर से चित्र भी बना लेती है गंगोत्री मन्हारे 9वी पढ़ रही है गंगोत्री को आगे पढ़ना चाहती है किन्तु दोनों हाथो नहीं है तो कपड़ा पहनने व अन्य कामों में व आने जाने व उनके देख रेख के लिए एक आदमी साथ होना जरूरी है इस लिए कोई हॉस्टल या स्कूल में अकेले नहीं जा सकती है गंगोत्री की पिता जी काली चरण मनहरे अपने बच्ची को पढ़ना चाहती है व शासन प्रशासन से मदद के लिए कलेक्ट्रेट व महिला बाल विकास व मंत्री को आवेदन दे चुके है पर कोई मदद नहीं कर रहे है खाली पेशन के रूप में 350 रुपए मिल पा रहा है वो भी कभी मिलता है कभी नहीं मिलता गंगोत्री पढ़ना चाहती है पर घर का माली हालत खराब है गरीब परिवार व उनके पिता जी कभी तबीयत खराब है जो उनके पदाई लिखाई का पूरा खर्च उड़ाने वाला स्वयं लाचार हो चुका है कालीचरण मन हरे अपने बच्ची को पढ़ने के लिए रोजी मजदूरी करता था अब शासन से भी मदद मांग रहे है ताकि अपने बच्ची गंगोत्री को पढ़ा सके अब देखना होगा कि शासन गरीब लाचार की मदद कर पाती है या नहीं